कॉल बॉय की कहानी
 

कॉल बॉय की कहानी  

  RSS
 Anonymous
(@Anonymous)
Guest

दोस्तों मेरा नाम राजा है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। मेरी आयु २९ साल की है, कद ५.८", देखने में अच्छा, एक शरीफ़ आदमी की तरह, वैसे मैं शरीफ़ आदमी ही हूँ।

बात कुछ महीनो पहले की है।

एक दिन मैं नेट पर चैटिंग कर रहा था। तब मैंने देखा कि एक मैसेज कॉमन रूम में फ्लेश हुआ कि हम मैन और वूमन के लिए सर्विस देते हैं। और एक मोबाइल नंबर भी फ्लेश हुआ। मैंने नंबर नोट कर लिया फिर अगले दिन कॉल किया तो उस लड़के ने मिलने को कहा।

हमने कनॉट-प्लेस में मीटिंग की। उसने कुछ फीस ली और कहा कि सप्ताह में एक लेडी मिलेगी और आपकी फीस भी वही कस्टमर देगी।

मैं राजी हो गया।

एक हफ्ते बाद उसने मुझे कॉल करके बताया कि आपको ग्रेटर कैलाश में जाना है।

दोस्तो ! यह मेरा पहला कॉल-बॉय का काम था।

मैं बताये हुए पते पर पहुँच गया। मैंने वहां पहुँच कर घर की बैल बजाई तो ३३-३४ साल की सुन्दरी ने दरवाजा खोला। मैं देख कर हैरान हो गया कि क्या सुन्दर थी वो !

मैंने उसे रेफेरेंस दिया तो उसने बुलाया और मीठी मीठी मुस्कान देने लगी। मेरा ८.५" लम्बा और ३" मोटा लण्ड कूदने लगा। मै भी खुश था कि मैं एक परी की चूत मारूंगा। मैं अन्दर गया और सोफे पर बैठ गया। वो पानी लेकर आई, मैंने पानी पिया, कुछ बातें करने लगे। कुछ मिनटों के बाद वो मुझे अपने बेड-रूम में ले गई और मुझ से ऐसे लिपट गई मानों सालों की प्यासी हो।

मैंने उसके लिप्स पर जोर की किस ली और उसने भी मेरा साथ दिया। १०-१२ मिनट के बाद मैंने उसके सलवार का नाड़ा खोल कर उसमें हाथ डाल दिया और उसकी मुलायम चूत पर हाथ फेरा। वो गरम होती जा रही थी और इन्तजार मुझ से भी नहीं हो रहा था। हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतार दिए और बेड पर लेट गए।

दोस्तों उसके मम्मे बहुत शानदार थे। मैंने उन्हें पीना शुरू कर दिया। कुछ मिनट के बाद मैं धीरे धीरे उसकी चूत तक आ गया और उसकी प्यारी सी चूत को चाटने लगा। मुझे चूत चाटना बहुत ही अच्छा लगता है। मैं १० मिनट तक चाटता रहा। इसी बीच उसका पाना निकल गया और थोड़ा शांत हो गई। फिर मैंने उसके मुंह में अपना ८.५" लम्बा और ३" मोटा लण्ड दिया तो वो एक भूखी शेरनी की तरह चाटने लगी और जोर जोर से आवाज निकालने लगी।

दोस्तों मेरा हथियार तो तैयार ही था, मैंने एक बार फिर उसकी चूत चाटनी शुरू की, वो फिर से गरम हो गई और कहने लगी- अब नहीं रुका जाता है, अब मुझे चोद दो !

मैं फिर उसकी टांगों के बीच में आ कर बैठ गया और अपना मोटा और लम्बा लंड उसक चूत के छेद पर रख दिया, फिर एक जोरदार झटका दिया तो आधा लण्ड उसकी चूत में था।

वो चिल्लाई और बोली- धीरे से करो !

मैंने कहा "तुम्हरी चूत तो पहले से ही खुली है, तो दर्द क्यों?

वो बोली- मैं अपने पति से १ साल से दूर रह रही हूँ, किसी और से करवाया नहीं है, इसलिए दर्द हो रहा है !"

मैंने १ मिनट के बाद एक झटका और दिया तो पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में समां गया। फिर मैंने आगे पीछे करना शुरू किया। अब उसको भी मजा आने लगा था। अब तो वो अपनी गांड को उठा उठा कर हिलाने लगी। १०-१५ मिनट तक करने तक वो दुबारा झड़ चुकी थी और मेरा भी आने वाला था लेकिन मैं लालची हो गया था कि थोड़ी देर और रुक कर झाड़ूँगा क्योंकि वो चूत ही इतनी प्यारी थी कि निकालने का मन ही नहीं कर रहा था।

४-५ मिनट करने के बाद मैं आने वाला था तो मैंने अपना लण्ड निकल कर उसके मुँह में दे दिया, साली पूरा रस गट गट पी गई और कहने लगी- आज बहुत दिनों के बाद मुझे स्वर्ग का मजा आया है !

फिर हम दोनों बाथ रूम में गए और वहां जाकर नहाने लगे। हम दोनों फिर से चिपट गए। मेरा हथियार तो फिर से खड़ा हो गया।

मैंने कहा- एक बार और हो जाए?

उसने हाँ कर दी। फिर मैंने उसे कुतिया के स्टाइल में चोदा। दो बार तो मैंने उसकी गांड में डाला लेकिन उसे दर्द हो रहा था तो फिर मैंने उसकी चूत में झाड़ दिया।

फिर हम नहा कर बाथरूम से बाहर आ गए, कपड़े पहन कर मैंने चलने को कहा तो उसने मुझे ५००० रुपये दिए और एक प्यारी सी किस दी और कहा- दोबारा बुलाने के लिए अपना नम्बर दे जाओ !

मैंने उसे अपना मोबाइल नम्बर दे दिया और अपने घर वापिस आ गया।

दोस्तो ! यह मेरी कहानी थी !

आप सभी को कैसे लगी, बताना !

लड़कियों, भाभियों और आन्टियों को मेरे लम्बे लंड का नमस्कार !

आप सभी को चोदना और चुदवाना मुबारक हो ! चोदते रहो और चुदवाते रहो और खुश रहो !

Quote
Posted : 08/12/2010 6:50 am