ग्रुप सेक्स
 

ग्रुप सेक्स  

  RSS
 Anonymous
(@Anonymous)
Guest

मैं राज फ़िर कोलकाता से. मेरी पिछली दो कहानियाँ ' एक सच्ची कहानी' और 'पति के सामने बीवी की चुदाई ' आप लोंगों ने जरुर पढ़ी होगी. ये दोनों कहानियाँ मेरे सच्चे अनुभव पर आधारित थीं.

इन दोनों कहानियों को पढ़कर बहुत से लोगों ने मुझे मेल किया. उनमे से एक जिसका नाम मनु था उसने लिखा कि वो भी इस तरह का सेक्स करना चाहता है. उसकी उम्र ३२ वर्ष और उसकी बीवी नीतू की २८ वर्ष है. मनु ने मुझसे कहा कि नीतू एक समय में दो - तीन मर्दों के साथ सेक्स करना चाहती है. ये लोग भी कोलकाता के रहने वाले हैं. लेकिन मनु की इच्छा स्वैपिंग की थी. मनु ने मुझसे कहा कि पहले तुम और मैं मिलकर नीतू को चोदेंगे फ़िर बाद में पूजा(मेरी बीवी को). लेकिन पूजा तैयार नहीं थी. इसलिए मैंने उनका परिचय सन्नी और सीमा से करा दिया. जो लोग सन्नी और सीमा के बारे में नहीं जानते उन्हें थोड़ा परिचय करा दूँ.

सन्नी- उम्र - ३० , गोरा, लंबा

सीमा- उम्र - २७ , सुंदर, ३४-२५-३२

ये दोनों पति- पत्नी हैं कोलकाता से ही. ये लोग तो वैसे पार्टनर बदल कर सेक्स करने के एक्सपर्ट हैं. लेकिन मैंने और सन्नी ने मिलकर एक दिन सीमा को चोदा था. सीमा बहुत ही हॉट और सेक्सी है. इसके बाद दोनों ने बताया की उन्होंने पार्टनर बदलकर सेक्स किया और उन्हें खूब मजा आया.

मेरी मुलाक़ात अभी तक नीतू और मनु से नहीं हुई थी. फ़ोन पर सन्नी और मनु ने मुझे सब बताया अपनी चुदाई के बारे में.

ये सब सुनकर मेरी भी इच्छा हो रही थी लेकिन मैं मजबूर था. क्योंकि मेरी बीवी तैयार नहीं हो रही थी.

कुछ दिनों के बाद एक दिन सन्नी ने मुझे फ़ोन किया कि तुम एक दिन का समय सकते हो? मैंने पूछा कि क्यों ? तो सन्नी ने बताया कि सीमा और मैंने तुम्हारी चुदाई की तारीफ मनु और नीतू के सामने की है और मैं और मनु चाहते हैं की एक ग्रुप का प्रोग्राम बनाया जाए.

ये सुनकर मैंने कहा की ठीक है लेकिन मैं अकेले ही शामिल हो पाउंगा क्योंकि मेरी बीवी तैयार नहीं होगी. सन्नी ने कहा कि ठीक है हम प्रोग्राम बना रहे हैं. इसके कुछ दिन के बाद सन्नी का फ़ोन आया की शुक्रवार को चलना है. कोलकाता से करीब १०० किलोमीटर दूर एक रिसॉर्ट है वहीँ पर चलना है सुबह ७ बजे घर से निकलना है. मैंने कहा ठीक है. मैंने इसके लिए अपनी बीवी को एक दिन पहले ही मायके भेज दिया.

शुक्रवार को सन्नी ने सुबह ६ बजे फ़ोन किया और कहा कि तुम कहाँ पर रहोगे? मैंने एक जगह का नाम बताया. सन्नी के पास कार थी. ठीक जगह पर पहुँच मैं उन लोगों से मिला. मनु और नीतू से पहली बार मिला. सन्नी गाड़ी चला रहा था. बगल में मनु बैठा था. मैं पीछे नीतू और सीमा के साथ बैठ गया. फ़िर मैंने नीतू को ध्यान से देखा. क्या माल थी यार ? बूब्स- ३६'' , कमर - ३४'' और रंग गोरा, आँखें नशीली, देख कर जैसे चुदाई की भूख कभी शांत ही नहीं होती है.

फ़िर मैंने सीमा को देखा करीब ६ महीने के बाद. वो पहले से भी ज्यादा सेक्सी लगी. फ़िर सन्नी ने मनु और नीतू से मेरा परिचय कराया. सीमा कार में बांये यानि मनु के ठीक पीछे बैठी थी. नीतू बीच में और मैं दाहिनी तरफ़. मनु पहले सीमा को चोद चुका था इसलिए वो दोनों खुलकर बातें कर रहे थे. करीब दो घंटे के बाद हम रिसॉर्ट में पहुंचे. इस बीच रास्ते में अच्छी तरह से बाते हुई. नीतू मुझसे खुलकर बातें करने लगी. रिसॉर्ट के बगल में एक पर्यटन स्थल था इसलिए वहां कमरा मिलना मुश्किल था लेकिन सन्नी ने पहले से ही एक डीलक्स रूम, डबल बेड का बुक करा लिया था. हम रूम में पहुँच कर पहले बारी - बारी से फ्रेश हुए .फ़िर नाश्ते का आर्डर दिए.

नाश्ता करने के बाद हम सभी बेड पर बैठ कर बातें करने लगे. फ़िर मनु और सन्नी ने अपनी चुदाई की कहानी चालू की. कैसे मनु ने सीमा को चोदा और कैसे सन्नी ने नीतू को. इसे सुनकर हम सभी धीरे-धीरे उत्तेजित हो रहे थे. मनु ने कहा कि तुम और सन्नी मिलकर पहले नीतू को चोदों मैं और सीमा बैठकर देखेंगे. मेरी बहुत दिन से इच्छा है कि नीतू को दो लोग मिलकर मेरे सामने चोदे. नीतू ने उस समय साडी पहनी थी. मनु सीमा के साथ बेड से उठकर सोफे पर चले गए.

मैंने नीतू का हाथ पकड़ कर खड़ा किया और उसके पीछे जाकर लो कट ब्लोउज से निकली हुई नंगी पीठ को चूमने लगा. उसकी ऊंचाई मुझसे थोडी ही कम थी. उसके साथ उसकी दोनों चूचियों को भी हाथ से पकड़ कर दबाने लगा. क्या चूची थी ! एक दम कठोर. फ़िर सामने से सन्नी आकर उसके होठों को चूसने लगा. फ़िर मैंने नीतू का मुंह थोड़ा सा तिरछा कर उसके होठों को चूसने लगा सन्नी उस समय उसकी चूचियां दबा रहा था फ़िर मैंने एक हाथ नीचे ले जाकर उसके बड़ी गांड को ऊपर से सहलाने लगा.

इस बीच मनु उठकर आया और नीतू की साडी उतार दी और कहा कि जल्दी से चोदों इसको. फ़िर वो वापस चला गया सीमा के पास. सीमा के भी कुछ कपडे उतर गए थे. लेकिन हम लोगों के पास उधर देखने कि फुर्सत नहीं थी. फ़िर मैंने नीतू के ब्लोउज के हुक खोलकर उतार दिया. भीतर उसने काले रंग की ब्रा पहनी थी जिस्मी उसकी बड़ी-बड़ी चूचियां आधी बाहर निकली थी. सन्नी ने उसके पेटीकोट का नाडा धीरे से खोल दिया और पेटीकोट को उसकी बड़ी गांड से उतार दिया. भीतर उसने काली पैंटी पहनी थी. उसकी बुर के पास भीगा हुआ था जो की पैंटी के ऊपर से ही दिखाई दे रहा था.इसके बाद हमने पोजीशन बदल ली. मैं नीचे की ओर गया और पैंटी से झनकती हुई गांड पर जीभ फिराने लगा. सन्नी ने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसके पूरी तरह तने हुए निप्पल को एक -एक कर चूसने लगा.

नीतू की आँखें उस समय बंद थी और वो पूरी तरह उत्तेजित हो गई थी. फ़िर मैंने उसके पेट, नाभि, जांघों को चूमते हुए उसकी पैंटी उतारनी शुरू की. क्या मस्त बुर थी उसकी! एक दम साफ़ जैसे चुदाई के लिए तैयार की गई हो! मैंने बुर के ऊपर जीभ फिराना चालू किया तो वो बेड पर बैठ गयी. मैंने जमीन पर बैठ कर ही उसके टांगो को चौडा किया और उसकी बुर को चूसना शुरू किया. वो अपनी बुर को जैसे मुझे पूरा खिला देगी वैसे कर रही थी.

ऊपर सन्नी बेड पर बैठ उसकी चूचियां, होंठ, निप्पल बारी-बारी से दबा/ चूस रहा था. नीतू उत्तेजना के मारे धीरे-धीरे बड़बड़ाने लगी .... या .....आ........ई ईई .........मजा................आ रहा है. वो पूरी तरह से उत्तेजित हो गयी थी. मैंने अपने पूरी जीभ उसकी बुर के भीतर तक घुसा दी थी. और एक अंगुली से उसकी क्लिट को रगड़ रहा था. वो बोलने लगी ................हाँ.....................ऐसे. ................ही..................... आई................आ................जीभ चोदते रहो............. सन्नी ................तुम....................मेरी चूचियों को और जोर से........................और जोर से...............दबाओ.....

मनु अब बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था वो भी पूरी तरह से नंगा था.वो नीतू के पास आया और उसकी चूचियों को दबाने लगा. तब तक सन्नी ने अपने कपड़े उतार कर नीतू को अपना तना हुआ लंड पकड़ा दिया था. वो उसे जोर से सहला रही थी. मैंने भी अपने कपडे उतारे और अपने लिंग पर एक कंडोम चढाया. और नीतू को डौगी स्टाइल में बेड पर औंधे लिटा दिया. यानि कमर के ऊपर का हिस्सा बेड के ऊपर. मैंने उसके पीछे से आकर उसकी रिसती हुई बुर मे एक ही धक्का में अपना पूरा लंड घुसा दिया और जोर-जोर से चोदने लगा. बेड पर नीतू की मुंह की तरफ़ सन्नी बैठा था और उसका लंड नीतू मुंह में लेकर चूस रही थी. मैं जितना जोर से धक्का मारता वो उतना ही सन्नी का लंड अपने मुंह में भर लेती. मनु पास में ही बैठ कर हमें और जोर से चोदने के लिए उसका रहा था. सीमा भी पूरी तरह से नंगी होकर पास में ही बैठी थी मैं ने कुछ देर तक उसे चोदा और झड़ गया. फ़िर सन्नी ने उसे बेड पर लिटाकर नोर्मल स्टाइल में चोदा. झड़ने के बाद वो भी बगल में आकर लेट गया.

शेष कहानी यानि हम पाँचों की एक साथ चुदाई अगले भाग में.

ये कहानी आपको कैसी लगी जरुर बताना.

Quote
Posted : 26/02/2011 7:28 am