चूत चुदाई विथ सेक्स...
 

चूत चुदाई विथ सेक्सी भाभी  

  RSS
 Anonymous
(@Anonymous)
Guest

हैलो दोस्तो एक बार फ़िर मैं आप के सामने अपनी एक नई और अनोखी कहानी के साथ जिसमे मैने अपनी बड़ी भाभी के साथ दोबारा फ़िर से पूरे ५ साल बाद बंद हुए सम्बन्ध फ़िर कायम किये। मैने अपनी बड़ी भाभी को पहली बार चोदा था जब मैं केवल १९ साल का था और वो मेरी ज़िंदगी की पहली चुदाई थी। मैने अपनी छोटी भाभी की कसी हुई गुलाबी चूत को जमकर चोदा था तब तक मैं काफ़ी बड़ा और अनभवी हो चुका था और मैं आप को बता दूं कि मेरे छोटी भाभी के साथ सम्बंध बनते ही बड़ी भाभी मुझ से नाराज़ हो गयी थी और सम्बन्ध तोड़ लिये थे। और आज मेरी उमर २४ है और इन ५ सालों में मैने अपनी छोटी भाभी को भरपूर प्यार दिया और अभी तक मैं अपनी छोटी भाभी को चोदता आ रहा हूं। इन ५ सालो के अपनी छोटी भाभी के साथ हुए अनुभव भी मैं आप के साथ बाटूंगा लेकिन पहले मैं आप को ये मजेदार स्टोरी सुनाना चाहता हूं अपनी बड़ी भाभी की और ये बात केवल ३ महीने पहले की है जब मेरे लंड को पहले वाली चूत फ़िर से खाने को मिली जिसे मेरे लंड ने अपनी ज़िंदगी में पहली बार चोदा था।

तो अब में आप का वक्त ज़ाया न करते हुए अपनी कहानी पर आता हूं, बात जून २००७ की है भयंकर गर्मी के दिन थे उन दिनो मेरी वाइफ़ का ९ वा महीना चल रहा था और डिलेवरी होने वाली थी। तभी मैने अपनी बड़ी भाभी को मेरी वाइफ़ की मदद के लिये गांव से शहर बुलाया। मैं ग्वालियर, मध्यप्रदेश मे रहता हूं और मेरा पूरा परिवार गांव में तो भाभी मेरे साथ आ गयी। मेरी वाइफ़ भाभी को देखकर बहुत खुश हुई हम दो कमरों का हिस्सा लेकर रह रहे है एक कमरे में हम तीनो सोते थे और दूसरे कमरे में मेरे डैडी और भाभी के बच्चे सोते थे गर्मी होने के कारण हम सभी ज़मीन पर सोते थे ताकी थोड़ी ठंडक मिल सके भाभी बीच में सोती थी और हम दोनो पति पत्नी भाभी के दोनो तरफ़। दो तीन दिन तो आराम से गुजरे। लेकिन बाद में मेरे मन में उथल-पुथल होने लगी कि मैं कब भाभी कि मक्खन जैसी चूत को चोदू। मैं आप को बता दूं कि मेरी बड़ी भाभी मेरी छोटी भाभी से भी सेक्सी और चुदासी है उनकी चूत हमेशा लंड खाने को बेकरार रहती है। क्योंकि ऐसा एक भी दिन नहीं जाता जब वो भैया से न चुदें क्योंकि मैं कई बार उनकी चुदाई देख चुका था और उनके कमरे के बाहर से उनकी चुदाई की आवाज़ें सुनी थी।

इसलिये मैं जानता था कि भाभी मुझसे जरूर चुदेगी वो बगैर लंड के नहीं रह सकती इसलिये मुझे सिर्फ़ उनको भड़काने की ज़रूरत थी और ऐसा ही हुआ। एक दिन भाभी बहुत गहरी नींद में सो रही थी एक दम चित सीधी लेटी थी वो क्या लग रही थी चूची एक दम ऊपर की ओर तनी हुई टांगे फ़ैली हुई। भाभी को ऐसे पोज में देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया। फ़िर मैने अपना एक हाथ भाभी के सीने पर रख दिया और उनकी चूची दबाने लगा फ़िर मैने अपना एक हाथ भाभी की चूत पर रखा हाय! चूत में से एक दम गरम गरम भाप जैसी निकल रही थी और चूत एक दम फ़ूली हुई पाव रोटी की तरह मुलायम गद्देदार, मुझ से रहा नहीं गया और मैं भाभी की साड़ी ऊपर को खिसकाने लगा और उनकी जांघो पर हाथ फेरने लगा भाभी थोड़ी कसमसाई और अपनी एक टांग मोड़ ली जिससे उनकी चूत और फ़ैल गयी शीईईए हैईईई मैने जैसे ही अपना हाथ चूत पर रखा लेकिन भाभी ने पैंटी पहनी हुई थी मैने पैंटी एक साइड में कर के एक उंगली चूत में डाल दी और एक हाथ से चूची दबाने लगा।

हाय! लंड फ़टा जा रहा था चूत में जाने को। पूरे ५ साल बाद मेरे हाथ में वो चूत थी जिसे मैने पहली बार चोदा था। मैने अपनी उंगली आगे पीछे करनी शुरु कर दी उंगली चूत के अंदर बाहर होने लगी फ़िर भाभी ने कसमसाकर अपनी दोनो टांगे फ़ैला दी और दोनो हाथ बिल्कुल ऊपर उठा लिये। जिससे उनकी चूची और तन गयी और चूत तो जैसे बिल्कुल मुंह फ़ाड़कर लंद को निमंत्रण देने लगी कि आजा मेरे राजा मुझ में समा जा। सच कहु तो उस पोसीशन में भाभी किसी मल्लिका या बिपाशा से कम नहीं लग रही थी हाय मेरी रानी। मैने अपनी एक उंगली और भाभी की चूत में घुसा दी अब भाभी की चूत से ढेर सारा पानी निकल रहा था मैं एक दम जोश में आ गया और दोनो उंगलियां तेज़ी से चूत में चलानी शुरु कर दी तभी भाभी जाग गयी और मुझे हैरानी से देख ने लगी लेकिन मैं मुस्कराने लगा। फ़िर वो सो गयी और मैं भी लंड हिलाकर सो गया फ़िर अगले दिन भी वही कहानी दोहराई इस बार मैने अपनी ३ उंगलियां चूत में डाली थी ३-४ दिन तक ऐसे ही चलता रहा लेकिन भाभी ने मुझे चुदने का सिग्नल नहीं दिया। लेकिन मैने फ़िर भी भाभी को नहीं बक्शा मैं उन्हे चोद कर ही माना ये सब मैने कैसे किया ये आप को अगले भाग में बताउंगा

Quote
Posted : 11/12/2010 12:04 pm